Health(स्वास्थ्य

प्रशांत फाउंडेशन का लक्ष्य समाज में सभी वर्ग के लोगो को अच्छा स्वास्थ्य मुहैया कराना है अर्थात प्रशांत फाउंडेशन का उद्देश्य है कि सभी लोग एक स्वस्थ जीवन जिए जिसके लिए प्रशांत फाउंडेशन नाना प्रकार के स्वास्थ्य से सम्बंधित क्रियाकलापो को समय-समय पर करता रहेगा। जो समय के हिसाब से परिवर्तित भी होते रहेंगे। कुछ क्रियाकलापो का विवरण नीचे दिया जा रहा है जिससे आप सभी भली-भांति समझ पाएंगे कि प्रशांत फाउंडेशन कैसे एक स्वस्थ्य समाज बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

  • स्वच्छता अभियान-प्रशांत फाउंडेशन समय-समय पर स्वच्छता अभियान का आयोजन करता रहेगा जिससे एक स्वच्छ वातावरण बनाने के साथ-साथ स्वच्छता को अच्छे स्वास्थ्य के परिणामस्वरूप सभी लोगो के बीच प्रसारित किया जा सके। हम सभी लोग यह भली-भांति जानते है कि स्वच्छता ही स्वास्थ्य का दर्पण है इसलिए हम सभी लोगो को स्वच्छता को दैनिक कार्य की भांति करना होगा जिससे हम एक स्वच्छ वातारण का माहौल समाज में प्रसारित कर एक सुखी जीवन न केवल अपने लिए अपितु आने वाली पीढ़ी को भेंट स्वरुप दे सके।
  • निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श शिविर का आयोजन-प्रशांत फाउंडेशन यह भली-भांति जनता है कि बीमारियों का कोई समय नही होता ये कभी भी दस्तक दे सकती है इसी बात को मद्देनजर रखते हुए प्रशांत फाउंडेशन समय-समय पर निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श शिविरों का आयोजन करेगा जिससे समाज का कोई भी वर्ग पैसो के आभाव में अच्छे स्वास्थ्य से वंचित न रह सके।क्योकि एक अच्छे स्वास्थ्य पर हम सभी का अधिकार है और इस सामाजिक अधिकार को जन-जन तक पहुचाना प्रशांत फाउंडेशन की पहली प्राथमिकता में से एक है।
  • कुपोषण जागरूकता अभियान-प्रशांत फाउंडेशन ने ग्रामीण क्षेत्रो में किये गए शोध में पाया कि यहां के बच्चे कुपोषण जैसी बीमारियों से ग्रसित है जो केवल संतुलित आहार न लेने के कारण होती है । इसलिए प्रशांत फाउंडेशन ग्रामीण क्षेत्रो में समय-समय पर कुपोषण जागरूकता अभियान चलाता रहेगा जिससे ग्रामीण क्षेत्रो के लोग एक स्वास्थ्य जीवन का लाभ ले सके।
  • खेल प्रोत्साहन-जैसा कि हम सभी लोग जानते है कि खेल हमारे शारीरिक विकास और स्वस्थ जीवन शैली को बनाये रखने में अत्यधिक सहायक है लेकिन प्रायः यह पाया गया है कि आज के आधुनिक युग में लोग बाहर खेले जाने वाले खेल को भूलते जा रहे है जिससे बच्चो में गंम्भीर बीमारियाँ समय से पूर्व ही होने लगी है तथा शारीरिक विकास के साथ-साथ मानसिक विकास में भी बाधा उत्पन्न हो रही है। इसलिए प्रशांत फाउंडेशन समय-समय पर ग्रामीण क्षेत्रो के विद्यालय में खेल सामग्री वितरित करेगा तथा सभी प्रकार के खेलों की प्रतियोगिता का आयोजन करेगा जिससे सभी जन में खेल के प्रति सकारात्मक ऊर्जा का संचार प्रोत्साहन स्वरूप हो सके और खेल को दैनिक दिनचर्या में सम्मिलित कर शारीरिक और मानसिक विकास का लाभ ले सके।
  • नशा मुक्ति अभियान-नशा एक गंभीर विषय है हमारे समाज के लिए जो स्वस्थ जीवन में बाधक है इससे पहले की कुछ नशा मुक्ति अभियान के बारे में कहा जाये पहले यह जानना अति-आवश्यक है कि नशा क्या है? इसके दुष्प्रभाव क्या है? हमारे समाज में यह किस तरह बहुत तेजी से फैल रहा है । जीवन दो ध्रुवो के बीच गतिमान रहता है सुख और दुःख , लाभ और हानि , यश और अपयश तथा जीवन और मृत्यु । ये कभी अलग ना होने वाले किनारे है। सुख के समय में आनंद और उल्लास, हँसी और कोलाहल जीवन में छा जाते है तो दुःख के समय मनुष्य निराश होकर रोने लगता है। निराशा के समय में बोझ और दुःख को भुलाने के लिए वह उन मादक द्रव्यों का सहारा लेता है, जो उसे दुखो की स्मृति से दूर भगा ले जाता है। ये मादक द्रव्य ही नशा कहे जाते है मादक द्रव्यों का सहारा लेने के लिए आज केवल असफलता और निराशा ही कारण नही बने है,अपितु रोमांच , पाश्चत्य दुनिया की नक़ल और नशे के ब्यापारियों की लालची प्रवृत्ति भी इसमें सहायक है।नशीले पदार्थ वे मादक और उत्तेजक पदार्थ होते है जिनका प्रयोग करने से व्यक्ति अपनी स्मृति और संवेदन-शीलता अस्थायी रूप से खो देता हैजिससे व्यक्ति भले-बुरे के अंतर को नही समझ पाता और अनुचित व्यहार करने लगता है। इसके साथ-साथ ये मादक पदार्थ हमारे शरीर के विभिन्न अंगों को खराब कर देते है जिससे विभिन्न प्रकार की जानलेवा बीमारियों का सामना समय-समय पर करना पड़ता है जो धन हानि भी करवाती है । प्रशांत फाउंडेशन नशा को समाज विनाशक रूप में देखता है और इसलिये नशा मुक्ति अभियान को सभी ग्रामीणों में घर-घर तक ले जायेगा और इसके दुष्प्रभावो के साथ-साथ जो लोग नशे का सेवन करते है उनको इस क्षणिक और विनाशकारी आनंद से कैसे बाहर निकाला जाए इस तथ्य को बतायेगा ।प्रशांत फाउंडेशन विद्यालयों में भी छात्रों को नशे से होने वाले दुष्प्रभावो को बतायेगा जिससे छात्रों को भी समाज में फैले जहर की जानकारी हो सके और वो भविष्य में नशे के सेवन का कभी भी विचार न करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *